ख़बर शेयर करें -

(कमल जगाती, नैनीताल)

नैनीताल। उत्तराखंड के नैनीताल में देररात माँ नयना देवी मंदिर में लैपर्ड कैट का शावक घुसने से चारों तरफ अफरा तफरी मच गई। वन विभाग की टीम ने काफी देर तक शावक को पकड़ने की कोशिश की लेकिन शावक के मंदिर परिसर में छुपने के बाद टीम उसे प्राकृतिक वास में उसके हाल पर छोड़कर लौट गई। 

नैनीताल में माँ नयना देवी मंदिर में आजकल नन्दा देवी महोत्सव की तैयारी चल रही है। इसी बीच किसी ने नैनीझील, एन.सी.सी.और मंदिर की बाउंडरी में लैपर्ड के शावक को देखा तो आसपास हंगामा मच गया। काफी देर एक जाली के पीछे छुपे रहने के बाद शावक मंदिर परिसर में भाग गया। इस दौरान वहां मौजूद लोगों ने पुलिस और वनविभाग को सूचित किया। वन विभाग के निमिश दानु ने मंदिर में पहुंचकर शावक का पीछा किया। शावक छोटे साइज का होने के कारण इधर उधर भागता नजर आया और अंत मे मंदिर परिसर में ही कहीं जाकर छुप गया। निमिश ने बताया कि शावक शिड्यूल 1 में आने वाले विलुप्तप्राय लैपर्ड कैट का है। मंदिर में काफी देर तलाशने के बाद उसे छोड़ दिया गया तांकि वो आसपास घूम रहे अपने परिवार से मिल सके। पहाड़ों में लैपर्ड कैट को कुकरी बिलाउ या कुकरी बाघ के नाम से भी जाना जाता है। निमिश ने ये भी कहा कि पहले उन्हें मंदिर में बाघ(गुलदार)होने की सूचने आई थी लेकिन मौके पर वो लैपर्ड कैट निकली।

इससे पहले भी लैपर्ड कैट को इसी क्षेत्र में देखकर लैपर्ड होने ली अफवाह उड़ी थी। कुछ लोगों ने इसे लैपर्ड बताकर न्यूज़ भी प्रसारित कर दी थी। बाघ(टाइगर)के जैसे ही शेड्यूल 1 में आने वाले विलुप्तप्राय लैपर्ड कैट इस क्षेत्र में वास करते हैं।

More Stories

Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments