ख़बर शेयर करें -

हल्द्वानी। वैश्य महासभा, हल्द्वानी द्वारा हर वर्ष श्री रामलीला मैदान मे श्री गणेश महोत्सव के भव्य आयोजन का शुभारंभ गणेश जी की मूर्ति स्थापना से हुआ। हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी मूर्ति दिनेशपुर से लाई गई। इससे पूर्व युवा वैश्य महा सभा के कार्यकर्ता द्वारा लंका भवन से राम भवन तक ढोल नगाड़े के साथ व गणपति बप्पा मोरया का जय घोस कर नाचते गाते हुए प्रतिमा को स्थापित करवाया। जिसमे युवा अध्यक्ष उमेश गुप्ता, रमेश केसरवानी, प्रिंस गुप्ता, अतुल जायसवाल, कपिल अग्रहरि वेभव गुप्ता सौरभ गुप्ता, महिला अध्यक्ष पूनम अग्रवाल, महामंत्री सुषमा वर्ष्णाय सीमा देवल जी सहित अनेकों अनेक कार्यकर्ता उपस्थित रहे। 

उसके उपरांत पंडित विवेक शर्मा द्वारा मंत्रो के उच्चारण कर मूर्ति स्थापना का पूजन विधि विधान द्वारा संपन्न किया गया जिसमें मुख्य यजमान बद्री प्रसाद गुप्ता, सुधीर जैन सपत्नी पूजन में बैठे। वैश्य महा सभा के अध्यक्ष आलोक शारदा, महामंत्री भवानी शंकर नीरज, देवेन्द्र केसरवानी, राजेंद्र प्रसाद गुप्ता, विनय लाहोटी, सुशील अग्रवाल, अशोक वर्षण्या, किशन लाल गुप्ता, हीरा लाल साहू, रामबाबू जायसवाल, नीरज प्रभात गुप्ता, विजय गुप्ता, लव मित्तल, समेत अनेकों अनेक कार्यकर्ता उपस्थित रहे। 

वही प्रचीन शिव मन्दिर कमेटी द्वारा बड़े धूमधाम के साथ नचाते गाते हुए बैंड बाजों के साथ शोभा यात्रा के रूप में भगवान गणेश जी की प्रतिमा समता आश्रम गली नन्द किशोर जायसवाल के आवास से लेकर सैकड़ो भक्तों व कमेटी के पदाधिकारी कार्यक्रम स्थल कृष्णा मैरिज हॉल में पहुँचे ।

जहाँ पण्डित विवेक शर्मा में विधि विधान के साथ पूजा अर्चना संम्पन करवाई। जिसमे मुख्य यजमान सह पत्नी अध्यक्ष धर्मेन्द्र गुप्ता मीडिया प्रभारी हेमन्त साहू व अनिल अग्रवाल अन्नू थे। शोभायात्रा में मुख्य रूप नन्द किशोर लाला जायसवाल, गंगा जायसवाल, सुनील गुप्ता, अमित आसवानी, शिव कपूर,  हिमांशु मिश्रा, विपिन साहू, मदन जोशी, हरीश नाथ गोस्वामी, दीपांशु शर्मा, वीरेन्द्र जायसवाल, दिनेश अग्रवाल, दीपा जायसवाल, प्रीति आर्या आदि थे।

शाम को स्थानीय बच्चों द्वारा रंगा रंग धार्मिक और संस्कृति कार्यक्रम किए गए। कार्यक्रम  संयोजक हरिमोहन अरोड़ा ने बताया यह गणेश महोत्सव मानव सेवा को समर्पित रहेगा। कार्यक्रम का संचालन संरक्षक रूपेन्द्र नागर ने किया।

वही आनंदपुरी क्षेत्र में गणेश महोत्सव की धूम देखने को मिली। आयोजकों ने बताया कि दो साल से कोरोना गाइडलाइन की वजह से महोत्सव धूमधाम से नही मना पाए थे। लेकिन इस बार गाइडलाइन में छूट से भक्तों में उल्लास है। फिर भी मास्क और सामाजिक दूरी को लेकर निर्देशित किया गया है। वहीं गणेश भगवान की मूर्ति स्थापना के साथ सांस्कृतिक कार्यक्रमों की भी तैयारी की गई है। ऐसे में हर कोई बप्पा की भक्ति में लीन नजर आ रहा है।

More Stories

Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments