ख़बर शेयर करें -

रुड़की। आईआईटी रुड़की के एक प्रोफेसर की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया है, साथ ही पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।

दरअसल आईआईटी रुड़की में कैमेस्ट्री डिपार्टमेंट में तैनात प्रोफेसर कैलाश चंद गुप्ता आइआइटी रुड़की परिसर स्थित हिलव्यू अपार्टमेंट में पांचवी मंजिल के बी-5 फ्लैट में रहते थे। सोमवार की देर शाम पड़ोस में रहे एक अन्य प्रोफेसर ने आईआईटी रुड़की के सुरक्षा अधिकारी को बताया कि प्रोफेसर कैलाश चंद गुप्ता के फ्लैट से कुछ दिन से दुर्गंध आ रही है, अब यह दुर्गंध बहुत ज्यादा बढ़ गई है, प्रोफेसर कैलाश चंद गुप्ता चार-पांच दिन से दिखाई भी नहीं दिए हैं। अनहोनी की आशंका को देखते हुए आइआइटी सुरक्षा अधिकारी ने मामले की जानकारी सिविल लाइन कोतवाली पुलिस को दी। सूचना पर तुरंत पुलिस मौके पर पहुंची, वहीं पुलिस की मौजूदगी में फ्लैट का दरवाजा तोड़ा गया, फ्लैट के भीतर बहुत ज्यादा दुर्गंध थी, अंदर कमरे में प्रोफेसर एक कुर्सी पर मृत पड़े हुए थे, पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया है, पुलिस ने बताया कि प्रेफेसर अकेले ही रहते थे और वह अविवाहित थे, उनकी उम्र करीब 63 वर्ष थी, वह मूलरूप से झांसी के रहने वाले बताए गए हैं, पिछले पांच-छह दिन से वह क्लास लेने भी नहीं गए थे, शव को देखकर लग रहा है कि वह चार-पांच दिन पुराना है। 

मामले में एसपी देहात प्रमेन्द्र सिंह डोबाल ने बताया कि अभी मौत के कारणों का पता नहीं लग पाया है। वहीं पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के कारणों का पता लग सकेगा। प्रोफेसर के परिजनों को सूचना दे दी गई है। 

More Stories

Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments