ख़बर शेयर करें -

देहरादून। उत्तराखंड अधीनस्थ चयन सेवा आयोग द्वारा वीडियो/वीपीडीओ भर्ती परीक्षा में प्रश्नपत्र लीक मामले में एसटीएफ टीम द्वारा संकलित साक्ष्यों के आधार पर मुख्य आरोपित केंद्रपाल पुत्र भीम सिंह निवासी टीचर कॉलोनी धामपुर को पूछताछ बाद गिरफ्तार किया गया। इस मामले में एस टी एफ ने अब तक 24 लोगो गिरफ्तार किया है। 

पूछताछ के दौरान जानकारी प्राप्त हुई है। केंद्रपाल वर्ष 1996 में टेंपो चलाता था एवं उसके बाद कुछ वर्षों तक रेडीमेड दुकान पर काम किया एवं उसके बाद कपड़ों की सप्लाई का काम किया। वर्ष 2011 2012 में अभियुक्त प्रतियोगी परीक्षाओं में नकल कराने के गिरोह में जुड़ गया। वर्ष 2012 में अभियुक्त केंद्रपाल की पूर्व में गिरफ्तार अभियुक्त चंदन मनराल से हुई। अभियुक्त चंदन मनराल की मुलाकात केंद्र पाल से धामपुर के एक व्यक्ति के माध्यम से हुई थी। अभियुक्त चंदन मनराल एवं अभियुक्त हाकम सिंह वर्ष 2011 से काफी करीबी मित्र हैं।

वर्ष 2011-12 में ही अभियुक्त केंद्र पाल की मुलाकात पूर्व में गिरफ्तार अभियुक्त हाकम सिंह रावत से हरिद्वार के एक लेबर कांट्रेक्टर के माध्यम से हुई थी क्योंकि हाकम सिंह भी हरिद्वार में रहता था  वहीं से काफी करीब दोस्त हो गए थे एवं हाकम सिंह रावत का केंद्रपाल के घर पर आना जाना था

केंद्रपाल की मुलाकात पूर्व में गिरफ्तार अभियुक्त जगदीश गोस्वामी से वर्ष 2019 में ही जागेश्वर अल्मोड़ा में एक मंदिर में हुई थी वहीं से दोस्त बन गए थे। केंद्रपाल ने उक्त अपराध से करोड़ों की संपत्ति अर्जित की। 

करीब 12 बीघा जमीन धामपुर में ली, धामपुर में एक आलीशान मकान, सांकरी में हाकम सिंह के साथ रीजोर्ट में पार्टनरशिप हैं। अभियुक्त के द्वारा कई अन्य संपत्तियां भी जोड़ी  गई है जिन की जानकारी की जा रही है। विवेचना में अभी साक्ष्य संकलन की कार्यवाही जारी है

More Stories

Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments