ख़बर शेयर करें -

हल्द्वानी। नगर निगम के निकट मल्ला गोरखपुर नहर कवरिंग में 720 स्लैब बनने थे लेकिन वर्तमान तक कुल 15 स्लैब ही बन पाये हैं। जिसको गम्भीरता से लेते हुये कुमाऊं आयुक्त दीपक रावत ने अधिशासी अभियंता सिंचाई किशन सिंह बिष्ट का जवाब तलब किया तथा अधीक्षण अभियंता सिंचाई संजय शुक्ल को कार्यो की मानिटरिंग कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश मौेक पर दिये। यह बात आयुक्त दीपक रावत ने शनिवार को निगर निगम के निकट मल्ला गोरखपुर नहर कवरिंग क्षेत्र के निरीक्षण के दौरान कही।

मल्ला गोरखपुर नहर कवरिंग क्षेत्र का लगभग 1 किमी पैदल चलकर आयुक्त श्री रावत ने स्थलीय निरीक्षण किया। निरीक्षण के उपरान्त आयुक्त ने पाया कि सिंचाई, लोनिवि एवं जलसंस्थान के विभागों मे सामंजस्य की कमी पाये जाने से विगत तीन वर्षो से कार्य नही होने पर गम्भीरता से लिया तथा आयुक्त ने मौके पर सिंचाई, लोनिवि एवं जलसंस्थान को आपसी समन्वय के साथ कार्य 1 नवम्बर से प्रारम्भ कर प्रत्येक दिन के कार्य की प्रगति के फोटोग्राफ एवं वीडियो भेजने के निर्देश दिये। अधिशासी अभियंता सिंचाई बिष्ट के द्वारा बताया गया कि सोमवार से नहर का पानी बन्द करने के पश्चात कार्य प्रारम्भ कर दिया जायेगा।

इसके उपरान्त आयुक्त श्री रावत द्वारा ठंडी सडक का स्थलीय निरीक्षण गया। निरीक्षण दौरान नगर आयुक्त पंकज उपाध्याय ने बताया कि ठंडी सडक नहर कवरिंग में 900 स्लैब बनने हैं जिसमें से 150 स्लैब बन चुके है तथा सोमवार से शेष स्लैब पर कार्य प्रारम्भ कर दिया जायेगा। उन्होंने बताया कि सोमवार से नहर का पानी बन्द कर दिया जायेगा तथा कार्य प्रारम्भ कर दिया जायेगा।
इसके उपरान्त आयुक्त द्वारा ठंडी सडक पर बने पार्कों का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण दौरान पार्कों में कूड व कचरा के साथ ही सफाई व्यवस्था नही होने पर कडी नाराजगी व्यक्त करते हुये मुख्य नगर स्वास्थ्य अधिकारी डा. मनोज काण्डपाल को चेतावनी दी तथा नियमित साफ सफाई की चैंिकंग कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश मौके पर दिये। पार्कों में आपत्तिजनक सामग्री मिलने पर आयुक्त ने स्थानीय पुलिस को नियमित चैकिंग कर सम्बन्धित के खिलाफ कडी कार्यवाही के साथ ही चालान करने के निर्देश दिये। उन्होंने नगर निगम के अधिकारियों को अन्तिम चेतावनी देते हुये कहा कि अगर पार्कों की उचित साफ सफाई व्यवस्था नही मिली तो सम्बन्धित अधिकारी के खिलाफ कठोर कार्यवाही अमल मेें लाई जायेगी। 

इसके पश्चात आयुक्त ने वर्कशाप लाईन में गुप्ता रैस्टोरेंट व छटवाल चिकन सेन्टर की दुकानों द्वारा सड़क पर ही बर्तनों की साफ सफाई करने को गम्भीरता से लिया उन्होने मौके पर खाद्य अधिकारी को निरीक्षण कर दोनों दुकानों के लाइसेंस निरस्त करने के निर्देश दिये।
इसके पश्चात आयुक्त श्री रावत द्वारा चौफुला चौराहा से ऊंचापुल नहर कवरिंग का भी निरीक्षण किया गया। चौफुला चौराहा नहर कवरिंग कार्य की धीमी गति पर उन्होंने नाराजगी व्यक्त की और अधिशासी अभियंता सिचाई को कार्यो में तेजी लाने के निर्देश दिये। आयुक्त ने कहा कार्यों मे समयबद्धता एवं गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखा जाये, कोताही होने पर सम्बन्धितों के खिलाफ कठोर कार्यवाही अमल में लाई जायेगी।
निरीक्षण दौरान अधीक्षण अभियंता जलसंस्था विशाल सक्सेना, सिचाई संजय शुक्ल, नगर आयुक्त पंकज उपाध्याय, सिटी मजिस्टेट ऋचा सिंह, उपजिलाधिकारी मनीष कुमार, अधिशासी अभियंता लोनिवि अशोक चौधरी, सिंचाई केएस बिष्ट, जलसंस्थान संजय श्रीवास्तव के साथ ही सम्बन्धित अधिकारी मौके पर उपस्थित थे।

More Stories

Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments