ख़बर शेयर करें -

हल्द्वानी। पिछले 5 वर्षों से अधिक समय से भाजपा राज में हल्द्वानी विधानसभा का विकास रुक गया है। टूटी फूटी सड़के, घंटो अघोषित बिजली कटौती सहित पीने के पानी की समस्या और थोड़ी बारिश में ही हल्द्वानी का जलमग्न होना ठप पड़े विकास का जीवंत उदाहरण है। राज्य सरकार को तुरंत सभी समस्याओं के समाधान के लिए कदम उठाने चाहिये ताकि हल्द्वानी की जनता को राहत मिल सके। यह बात नैनीताल रोड स्थित एक होटल में हल्द्वानी विधायक सुमित ह्रदयेश ने एक पत्रकार वार्ता में कही। 

उन्होंने कहा कि विगत दिनों हल्द्वानी में हुयी भारी बारिश के कारण हल्द्वानी शहर की सभी प्रमुख सडकों एवं कालोनियों में पानी भरने के कारण जनता का भारी आर्थिक नुकसान हुआ है। नैनीताल रोड जैसा प्रमुख मार्ग पर 2 फुट से अधिक पानी होने से सरकार मानसून को लेकर की गयी तैयारियों में पूर्णतया विफल साबित हुयी है। हल्द्वानी में जल निकासी की व्यवस्था करने में स्थानीय प्रशासन पूर्ण रूप से नाकाम रहा है। मानसून अभी अपनी प्रारम्भिक अवस्था में ही है। भविष्य में होने वाली बारिश से जान-माल के नुकसान की आंशका से स्थानीय लोग काफी भयभीत है।

उन्होंने कहा कि हल्द्वानी तथा आस-पास के क्षेत्रों में पेयजल की समस्या विकराल रूप धारण करती जा रही है। हमारे क्षेत्र की पूर्व विधायक स्व. इन्दिरा हृदयेश द्वारा क्षेत्र में बड़ी संख्या में नलकूपों की व्यवस्था कर जनता की पेयजल की समस्या का समाधान किया गया परन्तु वर्तमान में सही रख-रखाव न होने के कारण उसका लाभ जनता तक पहुंचाने में सरकार विफल साबित हो रही है। अमृत योजना के अन्तर्गत पेयजल समस्या से निदान हेतु बनायी गयी करोड़ों रुपये की योजना में आवंटित धनराशि का सही उपयोग न होने के कारण भी उसका लाभ क्षेत्र की जनता को नहीं मिल पा रहा है। हल्द्वानी विधानसभा के विभिन्न क्षेत्रों में अभी भी पानी के लिये हाहाकार मचा हुआ है। जनता पेयजल के लिये सड़कों उतरने के लिये मजबूर है। पेयजल जैसी मूलभूत आवश्यकता की पूर्ति करने सरकार विफल साबित रही है।

उन्होंने कहा कि हल्द्वानी क्षेत्र में जलभराव एवं पेयजल की समस्या से त्रस्त क्षेत्र की जनता घण्टों अघोषित विद्युत कटौती की मार से रोजाना जूझना पड़ रहा है। उमस भरी गर्मी से छोटे बच्चों से लेकर बड़े बुजुर्गों तक सभी परेशान है। कुमाऊं के प्रवेश द्वार एवं आर्थिक राजधानी हल्द्वानी को यहां की पूर्व विधायक स्व इन्दिरा हृदयेश सदैव विद्युत कटौती से मुक्त रखा। परन्तु अब 10-10 घण्टे से अधिक अघोषित विद्युत कटौती कर प्रदेश सरकार द्वारा हल्द्वानी की जनता के साथ सौतेला व्यवहार किया जा रहा है। यही नहीं विद्युत बिलों का वितरण समय पर न कर घरेलु विद्युत उपभोक्ता को अधिक दर पर विद्युत बिल भुगतान करने को मजबूर भी किया जा रहा है जोकि क्षेत्र की जनता साथ  अन्याय है।

उन्होंने कहा कि अपनी चमचमाती सड़कों के लिये पूरे देश में प्रसिद्ध हल्द्वानी शहर की सड़के अब चलने लायक भी नहीं बची है। विगत 5 वर्षों से हल्द्वानी विधानसभा क्षेत्र सड़कों का निर्माण थम सा गया है। कदम-कदम पर गड्ढों से युक्त सड़कों के कारण आये दिन दुर्घटना होने कारण जान-माल की क्षति से जनता बेहद त्रस्त है।

प्रेसवार्ता में कांग्रेस महानगर अध्यक्ष राहुल छिम्मवाल, पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष हेमंत बागडवाल, कांग्रेस महिला कांग्रेस उपाध्यक्ष  शोभा बिष्ट, प्रदेश गोविंद सिंह बिष्ट, महिला कांग्रेस महानगर अध्यक्ष नीमा भट्ट, प्रदेश सचिव मयंक भट्ट, नगर निगम नेता प्रतिपक्ष रवि जोशी, पार्षद ज़ाकिर हुसैन, मुकुल बलूटिया आदि मौजूद थे। 

More Stories

Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments