Ad
ख़बर शेयर करें -

हल्द्वानी। पुलिसकर्मी की पत्नी की हत्या का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। पुलिस के अनुसार लूट के उद्देश्य से हथौड़े से वार कर  हत्या की थी। आरोपी किच्छा उधम सिंह नगर का निवासी है। आरोपी ने लगभग ढेड से 02 वर्ष पूर्व पुलिसकर्मी शंकर सिंह बिष्ट के घर पर ग्रिल का काम किया था। पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त हथौडा और लूट का माल बरामद किया है। सोमवार को बहुउद्देशीय भवन में डीआईजी डॉ. नीलेश आनंद भरणे और एसएसपी पंकज भट्ट ने हत्याकांड का खुलासा किया।

जानकारी के अनुसार 3 नवंबर को एक बालक कपिल बिष्ट उम्र लगभग 17 वर्ष द्वारा थाना मुखानी मे आकर सूचना दी गयी कि उसके घर का लॉकर टूटा हुआ है तथा उसकी माँ ममता बिष्ट कहीं दिखाई नहीं दे रही है। उक्त सूचना के आधार पर थानाध्यक्ष मुखानी द्वारा तत्काल थाने से म0उ0नि0 बबीता मेहरा मय पुलिस बल को सूचनाकर्त्ता बालक के घर रवाना किया गया। थोड़ी ही देर में उस बालक की माँ की हत्या होने की सूचना मिलने पर रमेश सिंह बोहरा थानाध्यक्ष मुखानी, भूपेन्द्र सिंह धौनी क्षेत्राधिकारी हल्द्वानी, हरबंस सिंह एस0पी0 सिटी हल्द्वानी, डॉ0 जगदीश चन्द्र एस0पी0 अपराध/यातायात नैनीताल तथा डॉग स्क्वॉड एवं फोरैन्सिक टीम भी घटना स्थल पर पहुँच गये। तद्पश्चात पंकज भट्ट, वरिष्ट पुलिस अधीक्षक नैनीताल भी स्वयं घटना स्थल का निरीक्षण करने पहुँचे। घटनास्थल पर मौजूद फोरैन्सिक टीम द्वारा घटना स्थल का सूक्ष्मता से अध्ययन कर घटना के साक्ष्यों को एकत्रित किया गया। एस0एस0पी0 नैनीताल द्वारा घटना स्थल का अवलोकन कर अधीनस्थ अधिकारियों तथा थानाध्यक्ष मुखानी को घटना का तत्काल अनावरण करने तथा आरोपियों को गिरफ्तार करने के कड़े निर्देश दिये गये।

मुखानी क्षेत्र में आरक्षी की पत्नी की हुई हत्या के सम्बन्ध में डी जीपी अशोक कुमार द्वारा घटना का स्वतः संज्ञान लेते हुये पंकज भट्ट वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक नैनीताल को घटना का तत्काल अनावरण कर अभियुक्तों को गिरफ्तार करने के निर्देश दिये गये साथ ही नीलेश आनन्द भरणे पुलिस उप-महानिरीक्षक कुमाऊँ परिक्षेत्र नैनीताल को भी अभियोग में की जा रही पुलिस कार्यवाही की समय-समय पर अध्यावधिक स्थिति ज्ञात करने हेतु निर्देशित किया गया।

अभियोग का पंजीकरण-थाना मुखानी में वादी शंकरसिंह बिष्ट पुत्र स्व0 मोहन सिंह बिष्ट स्थाई निवासी इमली धड़ा कालिका कॉलोनी गली नं0- 06 लोहरियासाल तल्ला थाना मुखानी जिला नैनीताल की तहरीर के आधार पर तत्काल दिनांक 04/11/2022 को थाना मुखानी में मु0एफआईआर नं0- 270/2022 धारा 302/394 भादवि बनाम अज्ञात पंजीकृत किया गया ।

पुलिस टीम का गठन- एस0एस0पी0 नैनीताल द्वारा हत्या का खुलासा करने के लिये एस0पी0 क्राईम नैनीताल एवं एस0पी0 सिटी हल्द्वानी के पर्यवेक्षण में तथा सी0ओ0 हल्द्वानी/सी0ओ0 ऑपरेशन्स नैनीताल के नेतृत्व में अभियुक्तों की तलाश, सुरागरसी- पतारसी, संदिग्धों से पूछताछ, सीसीटीवी कैमरों का अवलोकन करने तथा विवेचनात्मक कार्यवाही व आरोपियों की गिरफ्तारी, लूटे गये नगदी, आभूषण व आलाकत्ल की बरामदगी हेतु निम्न टीमें गठित की गई।
नितिन लोहनी सी0ओ0 ऑपरेशन नैनीताल के निकट पर्यवेक्षण में
1- प्रथमटीम-अभियुक्तों की तलाश सुरागरसी-पतारसी हेतु आने जाने वाले रास्तों व सीसीटीवी का अवलोकन संदिग्धों से पूछताछ।
1-उ0नि0 ना0पु0 राजवीर सिंह नेगी, प्रभारी एस0ओ0जी0।
2-उ0नि0 ना0पु0 अनिल कुमार चौकी प्रभारी आम्रपाली।
3-उ0नि0 ना0पु0 सोमेन्द्र सिंह-थाना मुखानी।
4-उ0नि0 ना0पु0 रविन्द्र राणा-थाना हल्द्वानी।
5-उ0नि0 ना0पु0 दिनेश जोशी-चौकी प्रभारी राजपुरा।
6- उ0नि0 ना0पु0 दिलीप कुमार
7-कानि0 ना0पु0 एहसान अली- थाना मुखानी
8-कानि0 ना0पु0 चन्दन नेगी-थाना मुखानी
9-कानि0 ना0पु0 भानु प्रताप-एस0ओ0जी0नैनीताल
10-कानि0 ना0पु0 कुन्दन कठायत-एस0ओ0जी0नैनीताल।
11-कानि0 ना0पु0 त्रिलोक रौतेला-एस0ओ0जी0नैनीताल।
12-कानि0 ना0पु0 आशोक रावत-एस0ओ0जी0नैनीताल।
13-कानि0 ना0पु0 दिनेश नगरकोटी-एस0ओ0जी0नैनीताल।
14-कानि0 ना0पु0 इसरारनबी-सीसीटीवी सैल।

भूपेन्द्र सिंह धौनी सी0ओ0 हल्द्वानी के निकट पर्यवेक्षण में
2- द्वितीय टीम-संदिग्धों से पूछताछ टीम।
1-निरी0 ना0पु0 संजय कुमार-प्रभारी साईबर सैल।
2-निरी0 हरेन्द्र चौधरी, प्रभारी निरीक्षक हल्द्वानी।
3-उ0नि0 कमित जोशी।
4-कानि0 अनिल गिरी, एस0ओ0जी0।
5-कानि0 घनश्याम रौतेला, थाना हल्द्वानी।
6-कानि0 बंशीधर जोशी, थाना हल्द्वानी।

3- तृत्तीय टीम-विवेचनात्मक कार्यवाही एवं आला कत्ल की बरामदगी।

  1. रमेशबोरा-थानाध्यक्ष मुखानी।
  2. म0उ0नि0प्रीती-चौकी प्रभारी आरटीओ।
  3. म0उ0नि0बबीता-थाना मुखानी।
    *3.आरोपी की गिरफ्तारी एवं माल बरादगी।

अभियुक्त का नाम व विवरण-अभियुक्त मौ0 अशरफ उर्फ भूरा पुत्र अब्दुल नवी निवासी- 88 सुनेरी, वार्ड नं0- 15 किच्छा उधमसिंह नगर हाल निवासी नई बस्ती किच्छा उधमसिंह नगर उम्र‘- 39 वर्ष को संदिग्धों से पूछताछ, सीसीटीवी कैमरों का अवलोकन, सुसंगत तथ्यों एवं साक्ष्यों के आधार पर पुलिस टीम द्वारा वार्ड नं0-11, नई बस्ती नूरी मस्जिद के पास किच्छा, उ0सि0नगर से गिरफ्तार कर किया गया।
माल बरामदगी-
*1- आलाकत्ल- एक हथोडा जिसमें खून के धब्बे हैं।
*2- अभियुक्त के कपडे- जीन्स व कमीज जिसमें खून लगा हुआ है तथा जूते।
3- घटना में प्रयुक्त- मोटर साईकिल हीरो स्प्लैण्डर प्लस रजिस्ट्रेशन नं0-न्ज्ञ06ब्8462 तथा हैलमेट।

4- लूट का माल- 01 जोडी कान के झुमके, लॉकेट, 01 सोने का गलोबन्द, 01 सोने का मंगलसूत्र व 03 हजार रूपये नकदी बरामद किये गये।

हत्या का उद्देश्य व तरीका- आरोपी से पूछताछ करने पर ज्ञात हुआ कि लगभग ढेड से 02 वर्ष पूर्व उसने आरक्षी शंकर सिंह बिष्ट के घर पर ग्रिल का काम किया था। उसे मालूम था कि उसकी पत्नी भी अकेले ही घर पर रहती है। उसे पता था कि उसे देखकर वादी की पत्नी उसे अपने घर में आने देगी। वह कर्जे में डूबने के कारण पैसे जुटाने के लिये वादी के घर में लूट की योजना बनाकर अपनी मोटर साईकिल की पहचान बदलकर व नम्बर प्लेट मे कपडा बांध कर अपने जेब में एक हथोडा लेकर गया। लूट करने के लिये उसके द्वारा वादी की पत्नी से अन्य जगह ग्रिल लगाने के लिये ग्रिल की फोटो खीचने व पानी पीने का बहाना बनाकर अपने जेब में रखे हथोडे से मृतका महिला के सिर पर पीछे से हथोडे से लगातार वार कर मौत के घाट उतार दिया और वादी के घर से जेवरात व नगदी लूट कर फरार हो गया।

पुरस्कार की घोषणा-
हत्या एवं लूट की घटना का अनावरण करने एवं आरोपियों को गिरफ्तारी करने में लगी पुलिस टीमों के द्वारा उक्त घटना का त्वरित एवं सुस्पष्ट अनावरण हेतु डीजीपी अशोक कुमार ने एक लाख रुपये, डीआईजी डॉ. नीलेश आनंद भरणे ने 50 हजार, एसएसपी पंकज भट्ट ने 25 हजार, विधायक कालाढूंगी बंशीधर भगत ने 21 हजार और महापौर जोगेंद्र रौतेला ने 11 हजार रुपये पुरस्कार देने की घोषणा की है।

More Stories

Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments