ख़बर शेयर करें -

हल्द्वानी। वन प्लस मोबाईल शोरूम से लाखों कीमत के मोबाईल फोन चोरी करने वाले घोड़ासहन गिरोह के दो सदस्यों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इनके कब्जे से कब्जे से हल्द्वानी शोरूम से चोरी किए गए 06 मोबाइल फोन बरामद किए है। जानकारी के अनुसार 9 सितंबर को नैनीताल रोड चर्च कम्पाउण्ड के पास स्थित वन प्लस मोबाईल शोरूम में अज्ञात चोरों द्वारा नकबजनी किये जाने की सूचना प्राप्त हुई सूचना प्राप्त होते ही पुलिस द्वारा घटनास्थल का निरीक्षण किया गया एवं इस संबंध में दुकान मालिक श्री विष्णु खण्डेलवाल पुत्र आनन्द प्रकाश खण्डेलवाल निवासी ट्रस प्रकाश एकले बाईपास रोड आगरा  हाल चर्च कम्पाऊण्ड नैनीताल रोड की लिखित तहरीर बाबत अज्ञात चोरों द्वारा वादी के शोरूम का शटर ऊपर उठाकर और दुकान के अन्दर रखी अलमारी तोड़कर अल्मारी में रखे लगभग 163 मोबाईल ONE PULS एवं गल्ले में रखे लगभग डेढ लाख रूपये नकदी चोरी करने के संबंध में कोतवाली हल्द्वानी में एफआईआर न0 484/2022 धारा 380/457 भदावि बनाम अज्ञात पंजीकृत कर श्री हरेन्द्र चौधरी प्रभारी निरीक्षक हल्द्वानी के द्वारा विवेचना तत्काल उ0नि0 प्रकाश पोखरियाल चौकी प्रभारी भोटिया पड़ाव के सुपुर्द की गयी । 

पुलिस द्वारा की गयी कार्यवाही

पुलिस उप महानिरीक्षक कुमायूं परिक्षेत्र डॉ0 नीलेश आनन्द भरणे के द्वारा क्षेत्र में हुई सनसनीखेज चोरी की वारदात को अंजाम देने वाले अभियुक्तों को शीघ्र गिरफ्तार करने व घटना का खुलासा करने हेतु आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये । वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक नैनीताल पंकज भट्ट द्वारा स्वयं घटनास्थल का बारीकी से निरीक्षण कर अधीनस्थो को अतिशीघ्र उक्त चोरी की घटना का खुलासा करने तथा संलिप्त अभियुक्तों की गिरफ्तारी करने हेतु दिशा निर्देश देते हुए पुलिस टीम गठित की गयी । 

एसपी सिटी हल्द्वानी हरबन्स सिंह, क्षेत्राधिकारी हल्द्वानी भूपेन्द्र सिंह के पर्यवेक्षण में, प्रभारी निरीक्षक कोतवाली हल्द्वानी हरेन्द्र चौधरी प्रभारी निरीक्षक कोतवाली हल्द्वानी के नेतृत्व में 05 टीमें गठि त की गयी ।

प्रथम टीम को अभियुक्तों की तलाश, सुरागरसी हेतु दिल्ली रवाना किया गया । द्वितीय टीम को अभियुक्तों की तलाश सुरागरसी हेतु पीलीभीत, गोरखपुर, बिहार राज्य रवाना किया गया । तृतीय टीम अभियुक्तों की तलाश सुरागरसी हेतु हल्द्वानी, उधमसिंहनगर, काशीपुर, दिल्ली रवाना किया गया । चतुर्थ टीम को अभियुक्तों की तलाश करने हेतु मुरादाबाद रवाना किया गया। पाँचवी टीम को क्षेत्र में लगे सीसीटीवी/ सर्विलांस का भली -भांति से अवलोकन करने हेतु लगाया गया । 

गठित पुलिस टीमों के द्वारा प्राप्त इनपुट के आधार पर प्रथम दृष्टिया उक्त चोरी की घटना में घोड़ासहन गैंग की संलिप्त्ता प्रकाश में आयी एवं सीसीटीवी में नजर आ रहे संदिग्धों के विषय में मोतीहारी बिहार व दिल्ली की टीमों को अवगत कराया गया पुलिस द्वारा घटना के 24 घण्टे के भीतर ही चोरी की घटना में संलिप्त अभियुक्तों को चिन्हित कर लिया गया था । उक्त शातिर गैंग चोरी की घटना को अन्जाम देने के बाद चोरी का माल अपने अन्य साथियों के माध्यम से नेपाल भेज देते हैं और स्वयं अलग- अलग जगहों को चले जाते हैं जिनकी तलाश पुलिस द्वारा लगातार की जा रही है । 

इसी क्रम में ज्ञात हुआ कि उक्त गिरोह घोड़ासहन गैंग द्वारा मध्य प्रदेश के इन्दौर शहर के थाना मल्हारगंज के एम0जी0 रोड स्थित कृष्णा वॉच शोरूम से दि0 01/09/2022 को 22 लाख रूपये की 500 टाईटन की घड़ियो को चोरी किया गया है जांच में गैंग के कार्य प्रणाली (MODUS APRENDY) इन्दौर की घटना हल्द्वानी की घटना के समान थी एवं इन्दौर पुलिस द्वारा भी गैंग के सदस्यों  को तलाश किया जा रहा था । 

 उपरोक्त क्रम में बिहार भेजी गयी हल्द्वानी पुलिस टीम के द्वारा इनपुट दिया गया कि घोड़ासहन गैंग उत्तराखण्ड क्षेत्र में फिर से घटना करने की फिराक में है तथा इनके कुछ सदस्य काशीपुर रामनगर क्षेत्र के बड़े मोबाईल शोरूम की रैकी करने के लिए आने वाले हैं । पुलिस टीम को तत्काल सतर्क कर सुरागरसी हेतु क्षेत्र में भेजा गया जिनके द्वारा आज  18 सितंबर को हल्दूवा बैरियर रामनगर से घोड़ासहन गैंग के दो सदस्यों नईम देवान व विक्रम कुमार को मय चोरी किये 06 मोबाईल फोन सहित गिरफ्तार* किया गया है । 

पूछताछ के दौरान गिरफ्तार अभियुक्तों से यह तथ्य प्रकाश में आया कि वे दोनों घोड़ासहन के जीतू गैंग के सदस्य हैं इनके द्वारा बताया गया है कि हमारे गैंग में 8 से 10 आदमी हैं हमारे गैंग में से मोबिन, राजन व नईमुद्दीन जहाँ घटना करनी होती हैं वहाँ 2-3 दिन पहले रैकी कर लेते हैं हम लोगों ने दि0 01/09/2022 को इन्दौर के  घड़ी के शोरूम में चोरी की घटना को अन्जाम दिया गया था जहाँ से मिले माल को जीतू ने अपने आदमियों की सहायता से नेपाल भेज दिया गया, इसके बाद मोबिन, राजन व नईमुद्दीन ने हल्द्वानी में घटित घटना से करीब 2-3 दिन पूर्व हल्द्वानी आकर मोबाईल की दुकानों की रैकी की थी और दि0 08/09/2022 को गैंग के 08 लोग क्रमशः नईम देवान, जीतू उर्फ चूना, मोबीन, नईमुद्दीन , राजन , अर्जुन , रोशन व विक्रम दिल्ली आनन्द विहार से वाल्वो बस से हल्द्वानी आये और रात में हल्द्वानी पहुँचे इसके तुरन्त बाद नैनीताल रोड स्थित ONE PULS शोरूम की दुकान के पास पहुंचे जहाँ पर हमने चादर की आड़ में दुकान का शटर उठाया और हमारे 02 साथी राजन व अर्जुन दुकान के अन्दर गये तथा हम लोग दुकान से दूर हटकर पुलिस की निगरानी करने लगे कहीं पुलिस तो नही आ रही है कुछ देर बाद दुकान के अन्दर गये हमारे साथियों ने ईशारा किया तो हम लोग दुकान के पास गये अपने साथियों को मोबाईल से भरे हुए बैग सहित बाहर निकाला और तुरन्त बस अडडे पहुँच कर मैं और अर्जुन मुरादाबाद वाली बस में बैठ गये और हमारे बाकी 06 साथी दिल्ली वाली बस में बैठ गये । हम लोग इसके बाद दिल्ली गैंग लीडर जीतू के कमरे में पहुँचे जहाँ से अगले  दिन जीतू ने फोन लेकर मुझे और विक्रम को बिहार भेज दिया रास्ते में से विक्रम और मैंने 06 फोन लालच में आकर बाद में अलग से बेचने के लिए निकालकर अपने पास रख लिए बाकी फोन से भरा बैग जीतू के बताये अनुसार डा0 निजामुद्दीन देवान को मोतीहारी बिहार में दे दिया उसके बाद हम लोग अलग – अलग जगह घूम रहे थे मैं और विक्रम जीतू के बताये अनुसार फिर से काशीपुर व रामनगर में बड़े मोबाईल शोरूम की रैकी करने के लिए आये थे और रैकी करने के बाद दिल्ली जीतू के कमरें में जाने वाले थे परन्तु पुलिस ने पकड़ लिया ।

बरामदगी:-

गिरफ्तार दोनों अभियुक्तों के कब्जे से हल्द्वानी शोरूम से चोरी किए गए 06 मोबाइल फोन कीमत लगभग (2 लाख 64,000 हजार)

गिरोह की कार्यप्रणाली

1. घोड़ासहन गिरोह अधिकतर मोबाईल शोरूम एवं महंगी घडियों, शर्राफा व महंगे इलेक्ट्रानिक उपकरण के शोरूम को ही अपना निशाना बनाते हैं 

2. घोड़ासहन गिरोह के सदस्यों द्वारा चादर फैलाकर उसकी आड़ इस तरह खड़े हो जाते हैं कि वहाँ से कोई गुजरे तो पर्दे की वजह से उसका ध्यान शटर पर न जाये एवं शोरूम के शटर को उठा लेते हैं व ऐसे शोरूम को चिन्हित करते हैं जिनके शटर में सेंट्रल लॉक न हो, इसके उपरान्त गिरोह के 1-2 सदस्य शोरूम के अन्दर चले जाते हैं बांकी आसपास निगरानी करते हैं चोरी का काम पूरा होने पर बाहर खड़े सदस्य फिर से चादर फैलाकर शोरूम के अन्दर से अपने साथियों को निकालकर तुरन्त शहर छोड़ देते हैं ।     

3. गिरोह के कुछ सदस्यों के द्वारा 2-3 दिन पहले शोरूमों की रैकी की जाती है ।  

4. चोरी के बाद माल लेकर  गैंग दिल्ली जाते हैं जहां से इनका एक सदस्य माल लेकर नेपाल जाकर माल बेच देते हैं फिर रूपये आपस में बांट लेते हैं ।  

गिरफ्तार अभियुक्तों के नाम –

1.नईम देवान पुत्र मुन्ना देवान निवासी हसननगर घोड़ासहन मोतीहारी बिहार उम्र 28 वर्ष

2. विक्रम पुत्र प्रेम चन्द्र प्रसाद निवासी गुलैरियाटोला थाना / पोस्ट आ0 घोड़ासहन मोतीहारी बिहार उम्र 26 वर्ष    

पुलिस टीम –

1. श्री  नीरज भाकुनी – थानाध्यक्ष बनभूलपुरा

3. व0उ0नि0 विजय मेहता – हल्द्वानी 

4. व0उ0नि0 महेन्द्र प्रसाद – हल्द्वानी 

5. उ0नि0 प्रकाश पोखरियाल- प्रभारी चौकी भोटिया पड़ाव

6. उ0नि0 राजवीर सिंह नेगी – प्रभारी एसओजी नैनीताल 

7. उ0नि0 दिनेश जोशी – प्रभारी चौकी राजपुरा

8. उ0नि0 संजीत राठौड़ – प्रभारी चौकी टीपीनगर

9. उ0नि0 जगदीप नेगी प्रभारी चौकी मंगलपडाव

10. उप निरीक्षक धर्मेंद्र कुमार चौकी प्रभारी हीरानगर

11. उ0नि0 रविन्द्र राणा  – हल्द्वानी

12.  उ0नि0 नीतू सिंह  – कोतवाली हल्द्वानी 

13. हे0का0प्रो0 मौ0 आकिल

14. कानि0 अमनदीप – बनभूलपुरा

15. कानि0 दिलशाद – बनभूलपुरा

16. कानि0  अरूण राठौर – हल्द्वानी

17. कानि0  ललित श्रीवास्तव – हल्द्वानी

18. कानि0 त्रिलोक सिंह – एसओजी

19. कानि0 कुन्दन कठायत  – एसओजी

20. कानि0 अशोक रावत – एसओजी

21. कानि0 नसीम अहमद – थाना कालढूंगी

22. कानि0 बंशीधर जोशी   – हल्द्वानी

23. कानि0 इसरार नवी – हल्द्वानी 

24. कानि0 संजीत राणा – हल्द्वानी 

25. कानि0 प्रकाश बड़ाल – हल्द्वानी 

26. कानि0 संजीव राज – हल्द्वानी 

27. कानि0 भगवान सैलाल – हल्द्वानी 

28. कानि0 घनश्याम रौतेला – हल्द्वानी

29. कानि0 शेखर मल्होत्रा – कालाढूंगी

30. कानि0 प्रदीप थाना हल्द्वानी 

31- कानि0 दिनेश नगरकोटी (एसओजी)

32- कानि अनिल गिरी (एसओजी)

पुलिस उप महानिरीक्षक कुमायूं परिक्षेत्र नैनीताल डॉ0 नीलेश आनन्द भरणे द्वारा पुलिस टीम के उत्साहवर्धन हेतु 40 हजार रू0 का नगद ईनाम देने की घोषणा की गयी। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक नैनीताल पंकज भट्ट द्वारा पुलिस टीम के उत्साहवर्धन हेतु 20 हजार रू0 का नगद ईनाम देने की घोषणा की गयी है।

More Stories

Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments