ख़बर शेयर करें -

हल्द्वानी। नैनीताल जिले के मुक्तेश्वर थाना क्षेत्र के गोनियारो गांव के चंदन हत्याकांड का खुलासा न होने से आक्रोशित ग्रामीणों ने हल्द्वानी पहुंचकर बुद्ध पार्क में पुलिस प्रशासन के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन किया। चंदन हत्याकांड खुलासे को लेकर नाकाम हुई पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए गांव वालों ने पुलिस की कार्यप्रणाली पर गंभीर सवाल उठाए हैं। गांव से सैकड़ों ग्रामीणों को लेकर हल्द्वानी प्रदर्शन करने पहुंचे लोगों की पुलिस के साथ तीखी नोकझोंक हुई। इस दौरान पूर्व दर्जा मंत्री हरीश पनेरू और पुलिस की तीखी नोकझोंक हुई। 

दरअसल ग्रामीणों का कहना है कि एक जून को गोनियारो गांव से चंदन अपने ससुराल की तरफ अपनी पत्नी को लेने में निकला था लेकिन वह अपने ससुराल नहीं पहुंचा, 6 जून को उसकी लाश चंदन के ससुराल के पास के ही गांव के नाम डूंगरी में मिली। 

शुरुआत में राजस्व पुलिस इसकी जांच कर रही थी लेकिन मामले की गंभीरता और ग्रामीणों के दबाव के चलते इसे सिविल पुलिस में ट्रांसफर किया गया। लेकिन 6 जून से 26 जुलाई तक खुलासा नहीं होने के बाद आखिरकार आज ग्रामीणों का आक्रोश फूट पड़ा और उन्होंने हल्द्वानी में आकर पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन किया। परिजनों का कहना है कि पुलिस लगातार एक ही बात कह रही है कि वह जल्द चंदन हत्याकांड का खुलासा करेंगे लेकिन इतना समय बीत गया पुलिस के हाथ पूरी तरह खाली है और मृतक के परिजनों को गुमराह किया जा रहा है।

प्रदर्शनकारी एसएसपी कार्यालय कूच करने की कोशिश की लेकिन पुलिस ने उनको आगे नहीं बढ़ने दिया इस दौरान पुलिस और प्रदर्शनकारियों में जमकर नोकझोंक हुई।

वहीं चंदन हत्याकांड के खुलासे को लेकर धरने पर बैठे ग्रामीणों को समर्थन देने के लिए नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य, विधायक  सुमित हृदयेश बुद्ध पार्क पहुंचे। नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य पुलिस और प्रशासन की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाते हुए कहा कि आखिर किसके दबाव में हत्यारों को पुलिस गिरफ्तार नहीं कर रही है यशपाल आर्य ने चंदन के हत्यारों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस को 7 दिन का समय देते हुए कहा कि अगर 7 दिन के भीतर चंदन की हत्या करने वाले अपराधियों को सलाखों के पीछे नहीं पहुंचाया गया तो वह ग्रामीण और पीड़ित परिवार के साथ खुद धरने पर बैठेंगे।

More Stories

Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments