ख़बर शेयर करें -

रामनगर। रामनगर के नंदा लाइन इलाके में रहने वाले सुहेल सिद्दीकी का शव मुरादाबाद के थाना छजलैट क्षेत्र से बरामद हुआ। शव बरामद होने के बाद मृतक के परिजनों में कोहराम मच गया। पुलिस ने इस मामले का खुलासा करते हुए एक आरोपी जो सेना का जवान है को गिरफ्तार किया है। 

इस मामले का खुलासा एसपी क्राइम जगदीश चंद्र ने एक प्रेस वार्ता में किया। उन्होंने बताया कि इस मामले में एक आरोपी भरत आर्य जो सेना का जवान है को गिरफ्तार किया गया है। जबकि दूसरे आरोपी दिनेश टम्टा की गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे है। उन्होंने बताया कि दो अगस्त की रात को रामनगर नंदा लाइन निवासी व्यापारी सुहेल के लापता होने की सूचना मिली थी। जिसके आधार पर पुलिस ने गुमशुदगी दर्ज कर जांच शुरू कर दी थी। गुमशुदा की तलाश प्रारम्भ की गयी तो चोरपानी में गुमशुदा सुहैल की स्टेशनरी की दुकान के बाहर लगे सीसीटीवी कैमरों से एक अल्टो कार द्वारा गुमशुदा की मोटर साइकिल नं0 UK 04 L 4832 में टक्कर मारना तथा गुमशुदा सुहैल सिद्दिकी को अल्टो कार में डालने का प्रयास करने की जानकारी प्राप्त हुयी। मुकदमा उपरोक्त में बयान वादी व अन्य साक्ष्यों के संकलन से ज्ञात हुआ कि गुमशुदा सुहैल सिद्दिकी का उसकी चोरपानी स्थित स्टेशनरी की दुकान के पास ही रहने वाले हरीश राम की लड़की के साथ कई वर्ष पूर्व प्रेम प्रसंग होने तथा इसी प्रेम प्रसंग के कारण हरीश राम की लड़की द्वारा आत्महत्या करने तथा हरीशराम के परिवार द्वारा सुहैल से रंजिश रखने की जानकारी प्राप्त हुई। संदिग्धता के आधार पर हरीशराम के लड़के भरत आर्या को पूछताछ हेतु थाने लाया गया तो सख्ती से पूछताछ में उसने बताया कि मेरे पिताजी की चोरपानी कमल जनरल स्टोर के पीछे लोहार की दुकान है। हमारे पिताजी की दुकान के बगल में ही सुहैल सिद्दीकी, पुत्र-पुत्र नासिर सिद्दिकी, निवासी-नन्दा लाईन रामनगर, जिला नैनीताल की स्टेशनरी की विगत 10 सालों से दुकान है। नौकरी में लगने से पहले मैं सुहैल सिद्दीकी की दुकान में कभी कभार बैठ जाता था और उनके छोटे मोटे काम कर दिया करता था। सुहैल सिद्दीकी मुझे उस समय बहुत पसन्द करता था, मेरी बजह से मेरे घर में भी उसकी अच्छी बोलचाल थी मेरे दोस्ताने की बजह से मेरी छोटी बहन सुहैल की दुकान में उसके कुत्तों के लिए रोटी आदि बना दिया करती थी और कभी कभार झाड़ु-पोंछा कर दिया करती थी। सुहैल सिद्दिकी ने इस बात का फायदा उठाकर मेरी नाबालिग बहन को अपने प्यार के जाल में फंसाकर उसे अपने विश्वास में ले लिया और आये दिन उसके साथ गलत काम करने लगा। उस समय हम लोग बहुत गरीब थे इसलिए मैने सुहैल सिद्दीकी से इस बारे में कोई बात नहीं की। मेरी बहन को सुहैल सिद्दीकी ने इस कदर अपने प्यार के जाल में फांस लिय़ा था कि मेरी बहन सोहेल सिद्दिकी को नहीं भूल पा रही थी, उन्ही दिनों सुहैल सिद्दिकी के अन्य प्रेम प्रसंग के बारे में मेरी बहन को पता चला तो उसने सोहेल सिद्दिकी से अपने प्यार का वास्ता देकर और अपने साथ किये गलत काम का वास्ता देकर शादी करने को कहा तो सुहैल सिद्दिकी ने साफ साफ शब्दों में इन्कार कर दिया।

इसी दुख में मेरी बहन ने जहर खाकर आत्महत्या कर ली तथा सुहैल सिद्दिकी जब भी मेरे सामने आता था तो अक्सर घुमा फिराकर मुझे मेरी बहन को लेकर टोन्टबाजी करता था तब मेरा खून खौल जाता था परन्तु उस समय घर की आर्थिक स्थिति अत्यधिक खराब थी और उन दिनों मेरी नौकरी लगी थी तथा मैं ट्रेनिंग पीरीयड में था। इस कारण में सुहैल को कुछ नहीं कह पाता था। परन्तु मैने मन ही मन उसे एक न एक दिन जान से मारने की ठान ली थी। इस बार 14 जुलाई 2022 को मैं एक महीने की छुट्टी पर अपने घर आया था जिस दिन मैं छुट्टी पर आया उसके 3-4 दिन बाद मैं अपनी पिताजी की दुकान पर गया था तो सुहैल सिद्दिकी ने मुझे उपहास भरी नजर देखकर मुझ पर कमेन्ट किया तो मेरे तन बदन में आग लग गयी तथा मुझे अपनी बहन की याद आ गयी मैने उस दिन मन में ठान लिया कि इस बार मैं सुहैल को मौत के घाट उतारकर ही दम लुंगा। इसलिए मैने अपने करीबी दोस्त दिनेश टम्टा, पुत्र भोपाल राम, निवासी नारायणपुर मूल्या रामनगर,नैनीताल से सम्पर्क कर उसे अपने पास बुलाया और सोहेल को रास्ते से हटाने की पूरी योजना बनायी। दिनेश भी तैयार हो गया और हमने 2 अगस्त सुहैल को खत्म करने की योजना बनाई, योजना के तहत रात को करीब 08.30 बजे हम दोनों अपनी अल्टो कार से सुहैल की दुकान से कोटद्वार रोड की तरफ करीब 200 मीटर मोड़ पर नहर के किनारे पहुंचे अल्टो कार वहीं पर खड़ी कर हम दोनों सुहैल के आने का इन्तजार करने लगे। मैने सुहैल की रैकी करने के लिए दिनेश को उसकी दुकान के आस पास भेजा कुछ समय बाद दिनेश रैकी कर वापस आया तथा कहा कि तैयार हो जाओ सुहैल आ रहा है हम दोनों अल्टो स्टार्ट कर सुहैल के आने का इन्तजार करने लगे कुछ समय बाद सोहेल अपनी मोटर साइकिल प्लेटिना से जैसे ही हमारे पास पहुंचा तो हमने सुहैल की मोटर साइकिल पर टक्कर मार दी जिससे सुहैल नहर पटरी पर गिर गया उसके सिर पर चोट आ गयी सोहेल खडे होने का प्रयास करने लगा तो हमने गाड़ी में रखे लोहे के रोडों से उसके सिर पर तेज प्रहार किये जिससे मौके पर ही सोहेल की मौत हो गयी। फिर हम दोनों ने सोहेल की लाश को मेरी अल्टो कार में रख दिया। मैं कार चला कर ले गया और सुहैल की मोटर साइकिल नं0 UK 04 L 4832 दिनेश चलाकर ले गया, मैने घटना में प्रयुक्त रॉड रास्ते में फैक दिया औऱ सुहैल का मोबाइल फोन आधार कार्ड पर्स नहर के तेज बहाव में फैक दिये। हम दोनों सुहैल की लाश को लेकर कानिया चौराहे से मालधनचौड़ होते हुए काशीपुर के रास्ते मुरादाबाद काठ रोड में छजलेट थाना क्षेत्र में सड़क के किनारे पहुंचे वहाँ पर हमने सुहैल की मो0सा0 चाबी सहित सड़क के किनारे झाडियो में फैक दी औऱ अल्टो में बैठकर सुहैल की लाश को मो0सा0 रखने की जगह से करीब 500 मी0 आगे जाकर मैन रोड से बायी तरफ जाने वाले रास्ते में करीब 200 मी0 अन्दर जाने के बाद गन्ने के खेत में फैक दिया औऱ लाश की पहचान छुपाने के लिए अपने पास प्लास्टिक  की बोतल में रखे पैट्रोल को लाश के चेहरे पर छिड़ककर आग लगा दी औऱ उसके बाद हम दोनो वापस रामनगर आ गये ।

अभियुक्त भरत आर्या की निशानदेही पर मृतक सुहैल सिद्दिकी की हत्या किये जाने में प्रयुक्त अल्टो कार, आलाकत्ल रामनगर क्षेत्रान्तर्गत से  तथा मृतक सुहैल की मोटर साइकिल प्लेटिना व मृतक सुहैल का शव जनपद मुरादाबाद के थाना छजलैट क्षेत्र से बरामद किया गया। प्रेस वार्ता में एस पी सिटी हल्द्वानी हरवंश सिंह, क्षेत्राधिकारी रामनगर बलजीत सिंह भाकुनी, अरुण कुमार सैनी प्रभारी निरीक्षक कोतवाली रामनगर मौजूद थे। सफलता पाने वाली पुलिस टीम में  एस एच ओ अरुण कुमार सैनी, व0उ0नि0 प्रेम विश्वकर्मा, उ0नि0 नीरज चौहान, उ0नि0 विजय पाल सिंह आदि थे।

More Stories

Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments