ख़बर शेयर करें -

रुद्रपुर। विजिलेंस टीम ने बुधवार को रुद्रपुर कलेक्ट्रेट में स्थित चकबंदी कार्यालय में तैनात प्रभारी पेशकार को तीन हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया।

प्रभारी पेशकार दाखिल-खारिज के एवज में तीन हजार रुपये की रिश्वत की मांग कर रहा था। खटीमा निवासी एक व्यक्ति की शिकायत पर विजिलेंस ने कार्रवाई की। जानकारी के अनुसार शिकायतकर्ता नईम खान पुत्र नियाजुद्दीन खान निवासी वार्ड नंबर-7 थाना खटीमा ने 22 जुलाई को 1064 पर शिकायत दर्ज कराई थी। वहीं 8 अगस्त को पुलिस अधीक्षक सतर्कता अधिष्ठान नैनीताल सेक्टर हल्द्वानी के कार्यालय में शिकायती पत्र दिया। शिकायतकर्ता का कहना था कि उसने अपनी पत्नी के नाम से भूखंड खरीदा था। इसके दाखिल-खारिज की फाइल चकबंदी कार्यालय रुद्रपुर में लंबित है। चकबंदी अधिकारी के प्रभारी पेशकार आनंद चन्द्र दाखिल-खारिज के एवज में तीन हजार रुपये की रिश्वत मांगी। इस शिकायत पर पुलिस अधीक्षक, सतर्कता अधिष्ठान, नैनीताल सेक्टर, हल्द्वानी प्रहलाद नारायण मीणा द्वारा शिकायती प्रार्थना पत्र में अंकित आरोपों की जाँच कराने पर आरोप प्रथम दृष्टया सही पाये जाने पर अनिल सिंह मनराल, पुलिस उपाधीक्षक के पर्यवेक्षण तथा निरीक्षक चंचल शर्मा के नेतृत्व में एक ट्रैप टीम का गठन किया गया। बुधवार को ट्रैप टीम द्वारा आनन्द चन्द, प्रभारी पेशकार (उम्र 45 वर्ष) पुत्र वीजा राम निवासी बंडीया, किच्छा, उधमसिंहनगर को रू० 3000/- (तीन हजार रूपये मात्र) की रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा गया है।

इस सम्बन्ध में थाना सर्तकता अधिष्ठान, हल्द्वानी में आरोपी आनन्द चन्द के विरुद्ध मु०अ०स० 07/2022 धारा 7 भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम (संशोधित 2018) का अभियोग पंजीकृत किया गया है तथा इस प्रकरण में संलिप्त अन्य अधिकारियों की संलिप्तता की भी जांच की जा रही है। विवेचना निरीक्षक मनोहर सिंह दसौनी को सौपी गयी है। ट्रैप टीम को पुलिस अधीक्षक, सतर्कता अधिष्ठान, सेक्टर नैनीताल, हल्द्वानी द्वारा रू० 5,000/- के नकद पारितोषिक से पुरस्कृत किये जाने की घोषणा की गयी है।

More Stories

Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments